“क्यों न फिर से शुरू किया जाए ये सिलसिला जिसे एक यादगार मोड़ देकर खत्म करने की बात हुई थी?”

0
100

क्यों न फिर से शुरू किया जाए सिलसिला जिसे एक यादगार मोड़ देकर खत्म करने की बात हुई थी। क्यों न फिर से एक दफ़ा सब कुछ दुहराने की जद्दोजहद की जाए। कोशिश की जाए सब कुछ पहले की तरह ठीक कर लेने की।

मैं कोशिश करना चाहता हूँ तुम्हें अपनी अनकही मुहब्बत बताने की। ये सब शुरू किया जाए उस गुलाब के साथ जो हमारी पहली मुलाकात का साक्षी रहा है। मैं चाहता हूं कि तुम आओ उस नदी किनारे जहाँ हवा थोड़ी मद्धम हो, सूरज सिंदूरी हो गया हो, आसमान में काले काले बादल हों जो बरसने को तैयार खड़े हों जैसे उन्हें मेरे “दोनों गुलाबों” को निहारकर बरसने की मंद स्वीकृति चाहिए हों।

मैं अपनी उंगलियों में उस कलम को फंसाकर रखूं जो तुम्हारी आँखों की खूबसूरती को बयां कर रही हो और कॉफी की चुस्कियाँ लेते समय तुम अपने बालों से ही एक अनूठे अंदाज में खेलते हुए मुझसे उसी स्वछंद मुस्कुराहट के साथ वार्तालाप का सिलसिला बनाये रखे हो। क्यों न उस पलको कैद कर लिया जाए जब मैं तुम्हारी आँखों के बारे में लिखी कविता तुम्हें सुनाऊं और तुम बस शर्माते हुए चेहरे को छिपाना चाहती हो। क्यों न उस पल को कैद किया जाए उस पल को जब तुम अपनी एक जिद्दी लट को बार-२ हटाने की कोशिश करती हो और वो लट तुम्हें परेशान करने का बहाना ढूंढ रही है।

कैद कर लिया जाए उस लम्हे को जब मैं तुम्हारे झुमकों की तारीफ़ के बहाने तुम्हारी मुस्कुराहट बन जाना चाहता हूं और मैं तुम्हारे होठों के नीचे का तिल हो जाना चाहता हूं। मैं ये सिलसिला फिर से शुरू करना चाहता हूं ताक़ि शायद इस बार भी तुम्हारे चेहरे पर वो खोई हुई मुस्कान ढूंढी जा सके जो आखिरी बार इसी नदी किनारे पर दिखाई दी थी।

नदी किनारे पर ऐसे ही अनगिनत और बेबुनियाद सवालों का सिलसिला कोई नया नहीं है। नदी भी तो इंतज़ार करती है तुम्हारे उस रूप का जब तुम सब कुछ भुलाकर बस मुस्कुराती हो और….. और क्या ये नदी भी तो सुनना चाहती थी,

तुम्हारी मुस्कुराहट का अलौकिक शांत। वो सुनने के बाद नदी तुम्हारी एक झलक के लिए उफान मारती थी और तुम…. वही हमेशा की तरह,”बहुत देर हो गयी अब” कहकर नदी और मुझे वहीं पर रोककर चले जाते हो।
“क्यों न फिर से शुरू किया जाए ये सिलसिला जिसे एक यादगार मोड़ देकर खत्म करने की बात हुई थी?”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here