जिस दिन उनसे मुलाकात होगी |

0
139
the truth drug

जिस दिन उन से आमने सामने मुलाकात होगी

सपना सा होगा हकीकत और वाते यूं हजार होगीं ।

तरस रही हैं आंखे कवसे दीदार को जिनके

उनका थाम के हाथ उनसे अनेको फरीयाद होगीं।

खफा खफा से हैॆं वो हमसे कुछ इस तरह

के उनसे दिल में शिकायतों की भरमार होगी।

मिलेगा मोका सुनने का आवाज उनकी

उनके आगोश में खोयी मेरे हर लम्हे की जायदाद होगी।

जिस दिन उनसे आमने सामने मुलाकात होगी

सपना सा होगा हकीकत और बातें यूं हजार होंगी।।

वो कीमती होगा पल इतना हमें

के उसमें ही सरे एहसासों की बरसात होगी।

अल्फाजों की ना पडे़ ज़रुरत शायद हमें।

हमारे दिलों में एक अनकही सी कसक

सब कहने को बेकरार  होगी।।

जिस दिन उनसे आमने सामने मुलाकात होगी

सपना सा होगा हकीकत और बातें यूं हज़ार होंगी।।

लग कर गले से उनके करनी है दूर सारी गलतफहमी

सूबूत-ए-इश्क़ की सारी पंक्तियां उनके सामने ज़ार ज़ार होंगी

यकीन हो उन्हे भी कभी मोहब्बत का मेरी।

ऐसी कोशिश मेरी उनसे हर बार होगी-

हर बार होगी।।

जिस दिन उनसे आमने सामने मुलाकात होगी

सपना सा होगा हकीकत और बातें यूं हजार होंगी।।

Read this- BEING POSSESSIVE AND BEING OBSESSED, THERE IS A DIFFERENCE EVERYONE NEEDS TO UNDERSTAND

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here